संतान पक्ष में बाधा एवं परिहार

संतान पक्ष में बाधा एवं परिहार..   निम्नलिखित योग अगर कुंडली में उपस्थित हो तो संतान होने में बाधा हुआ करती है.. . १. लग्न, चन्द्र और गुरु से पंचम भाव दूषित हो, या पीड़ित हो.. २. यदि छठे, आठवे या बारहवे का स्वामी पंचम में हो और पंचम का स्वामी अस्त या निर्बल हो.. Read more about संतान पक्ष में बाधा एवं परिहार[…]